‘आप’ सेे गठबंधन को लेकर हो रही रायशुमारी पर कांग्रेस में मचा घमासान


नई दिल्ली. दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन का मुद्दा दोनों राजनीतिक दल जिंदा रखना चाहते हैं। कांग्रेस अब सीधे कार्यकर्ताओं से जुड़ने वाले शक्ति एप से जुड़े कार्यकर्ताओं से पूछ रही है कि भाजपा को हराने के लिए क्या आप से समझौता करना चाहिए? कार्यकर्ताओं के जवाब का परिणाम चाहे जो आए लेकिन रायशुमारी के इस तरीके काे लेकर कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं।

प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा कि प्रदेश नेता गठबंधन नहीं चाहते और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस पर सहमति जताई है। इस रायशुमारी को लेकर प्रभारी पीसी चाको ने मुझसे नहीं पूछा। प्रभारी पीसी चाको ने भास्कर से बातचीत में माना कि वह रायशुमारी कर रहे हैं। मध्य प्रदेश, राजस्थान या जहां कहीं जरूरत होती है तो कार्यकर्ताओं की राय महत्वपूर्ण फैसलों में ऐसे ही ली जाती है। कार्यकर्ताओं से पूछ रहे हैं तो उनका मत भी सामने आ जाएगा।

हालांकि शक्ति एप का रिजल्ट कब आएगा, गठबंधन होगा या नहीं ये सब राष्ट्रीय अध्यक्ष फैसला करेंगे। एप का विश्लेषण उनके पास पहुंचाया जाएगा। कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने भास्कर से कहा कि शक्ति एप से कार्यकर्ताओं की राय लेने में गलत क्या है। कार्यकर्ताओं का सम्मान रहेगा और दूसरे दलों के सामने बात भी रख पाएंगे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित (फाइल फोटो)

We would like to update you with latest news.