भाजपा ने भोपाल से दिग्विजय के खिलाफ साध्वी प्रज्ञा को टिकट दिया, इंदौर सीट पर अभी भी फैसला नहीं


भोपाल. मध्यप्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाम पर मुहर लगा दी। वे पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी। इस सीट से पहले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को टिकट दिए जाने की चर्चा थी। लेकिन माना जाता है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने साध्वी प्रज्ञा का नाम आगे बढ़ाया जो मालेगांव ब्लास्ट केस में एनआईए की जांच से गुजर चुकी हैं।पार्टी ने विदिशा से रमाकांत भार्गव को टिकट दिया है। पिछली बार इस सीट से सुषमा स्वराज जीती थीं। सागर से राजबहादुर सिंह और गुना से केपी यादव भाजपा उम्मीदवार होंगे। उधर, दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि आशा है कि साध्वी प्रज्ञा को भोपाल का शांत, शिक्षित और सभ्य वातावरण पसंद आएगा।

भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा समेत चार उम्मीदवारों की सूची बुधवार को जारी की। इंदौर लोकसभा सीट पर अब तक भाजपा का प्रत्याशी तय नहीं हो सका है, जहां से 8 बार से सुमित्रा महाजन सांसद हैं। वे इस बार चुनाव लड़ने से इनकार कर चुकी हैं।

लोकसभा क्षेत्र भाजपा कांग्रेस
मुरैना नरेंद्र सिंह तोमर राम निवास रावत
भिंड संध्या राय देवाशीष जारड़िया
ग्वालियर विवेक शेजवलकर अशोक सिंह
गुना केपी यादव ज्योतिरादित्य सिंधिया
सागर राज बहादुर सिंह प्रभांशु सिंह ठाकुर
टीकमगढ़ वीरेंद्र कुमार खटीक किरण अहिरवार
दमोह प्रहलाद पटेल प्रताप सिंह लोधी
खजुराहो बीडी शर्मा कविता सिंह
सतना गणेश सिंह राजा राम त्रिपाठी
रीवा जनार्दन मिश्रा सिद्धार्थ तिवारी
सीधी रीति पाठक अजय सिंह राहुल
शहडोल हिमाद्री सिंह प्रमिला सिंह
जबलपुर राकेश सिंह विवेक तन्खा
मंडला फग्गन सिंह कुलस्ते कमल मारावी
बालाघाट ढाल सिंह बिसन मधु भगत
छिंदवाड़ा नतन शाह नकुल नाथ
होशंगाबाद उदय प्रताप सिंह शैलेंद्र दीवान
विदिशा रमाकांत भार्गव शैलेंद्र पटेल
भोपाल प्रज्ञा ठाकुर दिग्विजय सिंह
राजगढ़ रोडमल नागर मोना सुस्तानी
देवास महेंद्र सोलंकी प्रह्लाद टिपानिया
उज्जैन अनिल फिरोजिया बाबूलाल मालवीय
मंदसौर सुधीर गुप्ता मीनाक्षी नटराजन
रतलाम जीएस डामोर कांति लाल भूरिया
धार छतर सिंह दरबार दिनेश गिरवाल
खरगोन गजेंद्र पटेल डॉ. गोविंद मुजालदा
इंदौर घोषित नहीं पंकज सांघवी
खंडवा नंदकुमार सिंह चौहान अरुण यादव
बैतूल दुर्गादास रामू टेकाम

दिग्विजय ने ट्वीट करप्रज्ञा का स्वागत किया

यह मेरे लिए धर्मयुद्ध है- साध्वी प्रज्ञा

टिकट की घोषणा से पहले साध्वी प्रज्ञा नेपूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के संगठन महामंत्री रामलाल समेत कई नेताओं से मुलाकात की।भाजपा प्रदेश कार्यालय से निकलने के बादसाध्वी ने कहा कि मेरे लिए कोई चुनौती नहीं है।ये धर्मयुद्ध है और हम इसे जीतेंगे। मैंने पार्टी के कई नेताओं से मुलाकात की। सबने तय किया है कि हम राष्ट्र के विरुद्ध षड्यंत्र करने वालों के खिलाफ लड़ेंगे,क्योंकि राष्ट्र सुरक्षा पहले है और बाकी चीजें बाद में।

प्रज्ञा ने मंगलवार को भाजपा की सदस्यता ली

प्रज्ञा ने बतायाकि वह मंगलवार (16 अप्रैल) को पार्टी की सदस्यता ले चुकी हैं। कई नामों पर चर्चा और असमंजस के स्थिति के बाद भाजपा से आखिर मेंप्रज्ञा का नाम तय माना जा रहा है। प्रज्ञा मालेगांव धमाके के बाद सुर्खियों में आई थीं।

संघ नेप्रज्ञा का नाम आगे बढ़ाया था: बताया जा रहा है कि प्रज्ञा के नाम पर सहमति बनाने में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने अहम भूमिका निभाई। यह उनका पहला चुनाव है। भोपाल सीट से उम्मीदवारी को लेकर नरेंद्र सिंह तोमर, शिवराज सिंह चौहान, महापौर आलोक शर्मा और वीडी शर्मा के नाम पर पार्टी स्तर पर खासी मशक्कत हुई, लेकिन संघ ने प्रज्ञा का नाम बढ़ा दिया।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


digvijay singh vs pragya thakur in bhopal madhya pradesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

We would like to update you with latest news.