इंजीनियरिंग व् अन्य कोर्सेज़ के लिए एल पी यू है छात्रों के लिए बेहतर विकल्प  


अगर विद्यार्थियों को आईआईटी में प्रवेश न मिल सके तो ऐसा नहीं है कि वे किसी अन्य उच्चकोटि के शिक्षण संस्थान से अपना इंजीनयरिंग कॅरियर शुरू ही नहीं कर सकते। देश में ऐसे कई विशिष्ट संस्थान हैं जो इंजीनियरिंग डिग्री पाने के लिए किसी भी तरह से आईआईटी से कम नहीं हैं- जैसे कि, लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (एलपीयू), जो भारतीय शिक्षा क्षेत्र में अलग व विशेष ढंग से उभरकर सामने आया श्रेष्ठ संस्थान है। आइए जानते हैं कि एलपीयू कैसे है एक सही पसंद, न केवल इंजीनियरिंग के लिए अपितु अन्य प्रोग्राम्स के लिए भी :

प्लेसमेंटस – एलपीयू की सबसे बड़ी ताकत है विद्यार्थियों की प्लेसमेंट्स। एलपीयू ने पिछले तीन वर्षों से उत्तर भारत में लगातार सबसे अधिक प्लेसमेंट्स का रिकॉर्ड स्थापित किया है। गूगल, एमेजॉन आदि जैसी बड़ी कंपनियों में एलपीयू के विद्यार्थी एक करोड़ रूपये से भी अधिक के सैलरी पैकेज के साथ उच्च पदवियों पर कार्यरत हैं। अकेले कॉगनीजैंट जैसी कंपनी, जो कि विश्व की तीसरे नंबर की आईटी कंपनी है, ने ही एलपीयू के 1900 विद्यार्थियों को नियुक्त किया। इस तरह विश्व के हर कोने में एलपीयू के विद्यार्थी अच्छी-अच्छी कंपनियों में नियुक्त हुए हैं। टॉप कंपनियों जैसे कि एमेजॉन, हिंदुस्तान लीवर,माइक्रोसॉफ्ट, एचपी जैसी 110 और कंपनियां हैं जो आईआईटी से रिक्रूट करने के साथ-साथ एलपीयू से भी रिक्रूट करती हैं।

इन्फ्रॉस्ट्रक्चर- 600 एकड़ से अधिक में फैला हुआ एलपीयू का कैंपस किसी भी शहर से कम नहीं हैi यहां एक तरफकैंपस पर ही आधुनिक लैबस, देश का सबसे बड़ा ऑडिटोरियम और लाइब्रेरी है, वहीं दूसरी ओर कैंपस में ही शॉपिंग मॉल, अस्पताल, पोस्ट ऑफिस और यहां तक कि यूनिवर्सिटी का अपना होटल भी है। यहां का अस्पताल विद्यार्थियों के स्वास्थय की देखभाल के लिए चौबीसों घंटों खुला रहता है और अस्पताल के परिसर में ही फॉर्मेसी केंद्र भी है।

रिसर्च एंड डेवलपमेंट – एलपीयू में रिसर्च व डेवलपमेंट की ओर बहुत अधिक ध्यान दिया जाता है और विगत वर्षों में विद्यार्थियों ने रिसर्च के क्षेत्र में अनेकों उपलब्धियां प्राप्त की हैं। इस संदर्भ में कैंपस में ही अलग से रिसर्च एंड डेवलपमेंट के लिए बहुमंजिला बलॉक निर्धारित है, जहां विद्यार्थी अपनी विशिष्ट रिसर्च को सकारात्मक रूप देते हैं। इसी संदर्भ में कैंपस में ही विशाल प्रोजेक्ट स्टूडियो भी है जहां विद्यार्थी अपने उल्लेखनीय व नवीनतम प्रोजेक्ट्स को क्रियात्मक रूप देते हैं और अन्य विद्यार्थियों से साझा भी करते हैं।

सर्वश्रेष्ठ फैकल्टी- एलपीयू में शिक्षा प्रदान कर रहे 3600 से अधिक फैकल्टी मेंबर्स देश-विदेश के उच्च संस्थानों से सिलेक्ट किए गए हैं। बहुत-से फैकल्टी मेंबर आईआईटी, एनआईटी और विख्यात इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी जैसे कि हॉवर्ड, स्टेनफोर्ड से भी हैं। एलपीयू में पढ़ाई केवल किताबों के द्वारा ही नहीं होती अपितु विद्यार्थी एक्सपेरिमेंट्स के द्वारा स्वंय प्रयोगात्मक ढंग से सीखते हैं । यहां पर मेकैनिकल इंजीनियरिंग विभाग के विद्यार्थी स्वयं कार बनाते हैं; कंप्यूटर साईंस विभाग में विद्यार्थियों के लिए कोर्स के अनसुार मोबाईल ऐप बनाना अनिवार्य है; और, फैशन टैक्नोलॉजी के विद्यार्थी राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर के फैशन शो भी आयोजित करते हैं। वास्तव में, यहां पर हर क्षेत्र के विद्यार्थी को पढ़ाई उसके प्रोग्राम के अनुरूप प्रैक्टीकल ढंग से ही करवाई जाती है।

डायवर्सिटी (विभिन्नता)- एलपीयू कैंपस में 50 से अधिक देशों से आकर विद्यार्थी विभिन्न संस्कृतियों, भाषाओं, पहरावों, परंपराओं व रीति-रिवाजों के मध्य रहते हुए एक-दूसरे से मिलजुल कर रहना व बहुत कुछ अन्य ज्ञानप्रद व व्यवहारिक बातें सीखते रहतें हैं, ताकि वे भविष्य में वैश्विक नागरिक बन कर उभरें।

ओवरऑल पर्सनैलिटी डेवलपमेंट- एल पी यू में विद्यार्थियों की ओवर ऑल पर्सनैलिटी डेवपलमेंट पर पूरा ध्यान दिया जाता है। एलपीयू अपने विद्यार्थियों को यह सिखाता है कि आज के युग में सिर्फ पढ़ाई ही सब कुछ नहीं अपितु यह है कि आप सबके सामने स्वयं को कैसे प्रस्तुत करते हैं, और यही बात है जो आज के संदर्भ में बहुत अहमियत रखती है। इसीलिए, एलपीयू में पहले दिन से ही सभी ओर समान व् सही रूप से संचार करने के लिए अंग्रेजी भाषा के प्रयोग पर जोर डाला जाता है। यहां पर 150 से भी अधिक सोसाइटियां हैं जिन्हें विद्यार्थी अपने टैलेंट अनुसार ज्वाइन कर सकता है- जैसे कि, डांस, म्यूजिक, थिएटर, लिटरेरी, रोबोटिक्स, योगा तथा क्रिकेट, बॉस्केटबॉल जैसी बहुत सी स्पोर्टस गतिविधियां आदि। इस तरह ओवर ऑल पर्सनैलिटी डेवपलमेंट के इतने सारे अवसर प्रदान करने वाली एलपीयू भारत की एकमात्र ऐसी यूनिवर्सिटी है जिसने इन सोसाईटियों के माध्यम से एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज के राष्ट्रीय कल्चरल फैस्ट में सेकंड पोजीशन सहित कई उल्लेखनीय पुरस्कार प्राप्त किये हैं ।

स्कॉलरशिप- सभी मैरीटोरियस विद्यार्थियों को एक अच्छी यूनिवर्सिटी में पढ़ने का मौका मिल सके और कहीं वे किसी आर्थिक कारण से पिछड़ न जाएं, इसलिए एल पी यू में दाखिले के समय यूनिवर्सिटी का ही स्कॉलरशिप टेस्ट ‘एलपीयू नैस्ट टेस्ट’ भी लिया जाता है जिसमें प्राप्त अंकों के आधार पर स्कॉलरशिप दी जाती है जो कि एक योग्य विद्यार्थी के लिए 4 लाख रुपए तक उपलब्ध है।

एल पी यू में स्कॉलरशिप के साथ एडमिशन की आखिरी तारीख 31 मई 2019 है । एल पी यू में दाखिले व अन्य जानकारी के लिए वेबसाइटwww.lpu.inपर जाएँ ।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


LPU is a great choice for students looking for better engineering and other courses.

We would like to update you with latest news.