रोहित-मलिंगा ने शार्दुल के खिलाफ स्लोअर यॉर्कर प्लान की, जानते थे बड़ा शॉट खेलने जाएंगे


खेल डेस्क.चौथी बार आईपीएल का खिताब जीतने वाली मुंबई ने फाइनल में तीसरी बार 150 से कम का स्कोर डिफेंड किया। चेन्नई कोआखिरी ओवर में जीत के लिए 9 रन चाहिए थे और अनुभवी मलिंगा की सटीक गेंदबाजी के चलते मैच आखिरी गेंद तक पहुंच गया था। शार्दुल स्ट्राइक पर थे और जीत के लिए मुंबई को 2 रनों की दरकार थी। मलिंगा ने 112 किमी/घंटा की रफ्तार से स्लोअर यॉर्कर डालकर शार्दुल को एलबीडब्ल्यू आउट किया। मलिंगा ने दूसरी गेंद 143 किमी/घंटा की रफ्तार से फेंकी थी। लेकिन, आखिरी गेंद उन्होंने 112 किमी/घंटा की स्पीड से फेंकी यानी इस गेंद में उन्होंने रफ्तार 31 किमी तक कम कर दी थी।

दरअसल, इस गेंद का चयन मुंबई के कैप्टनरोहित शर्मा और मलिंगा ने किया। रोहित और शार्दुल घरेलू क्रिकेट में एक साथ मुंबई के लिए खेलते हैं। रोहित ने ऑन साइड पर फील्ड खुली रखी, ताकि शार्दुल शॉट मारने के लालच में आए और मलिंगा ने स्लोअर फेंककर उनका विकेट ले लिया। रोहित ने कहा, “हमारा प्लान बल्लेबाज को आउट करना था। मैं शार्दुल को बहुत अच्छे से जानता हूं। वह उस समय बड़ा शॉट लगाना चाह रहा था। इसलिए हमने स्लोअर गेंद डालने का फैसला किया।”

  1. रोहित ने कहा, “मैच के उस मोड़ पर मैं अनुभवी गेंदबाज के साथ जाना चाहता था। इससे नुकसान भी हो सकता था। मैं ऐसा गेंदबाज चाहता था, जो इससे पहले भी इन परिस्थितियों में गेंदबाजी कर चुका हो और मलिंगा अपने करियर में कई बार ऐसी परिस्थितियों में गेंदबाजी कर चुके थे। इसलिए हम उनके साथ गए।”

  2. मुंबई 2017 का फाइनल भी एक रन से जीता था। तब पुणे सुपरजाएंट्स को आखिरी ओवर में 11 रन बनाने थे। उस वक्त भी रोहित अनुभवी गेंदबाज मिशेल जॉनसन को ही गेंद थमाई। जॉनसन ने ओवर में सिर्फ नौ रन दिए।

  3. रोहित ने उस फाइनल को याद करते हुए कहा, “मुझे याद है, जब हम 2017 में जीते थे तह जॉनसन ने ही आखिरी ओवर किया था। उन्होंने केवल 9 रन ही रन दिए। कई बार आपको दिल की आवाज सुननी होती है। मुझे लगता है कि अनुभव पर भरोसा करके गलती नहीं की।”

  4. रोहित शर्मा इस जीत के साथ आईपीएल के सबसे सफल कप्तान बन गए। उन्होंने चार फाइनल अपनी कप्तानी में मुंबई को जिताए। वहीं, एक खिलाड़ी के तौर पर रोहित 5 बार विजेता टीम के सदस्य रहे। उन्होंने पहला आईपीएल डेक्कन चार्जर्स के साथ 2009 में जीता था।

  5. रोहित ने कहा, “डेक्कन चार्जर्स की जीत तो मैं भूल ही गया था। यह तय करना मुश्किल है कि कौन सा खिताब सबसे खास है, क्योंकि सबके लिए बहुत मेहनत लगती है। मेरे लिए सभी यादगार हैं।” रोहित ने सीजन में 15 मैच में 405 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 28.92 और स्ट्राइक रेट 128.57 का रहा।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      IPL final, MI vs CSK: Rohit Sharma-Lasith Malinga planned slower Yorker ball against Shardul Thakur


      रोहित शर्मा।

We would like to update you with latest news.