स्मार्ट वॉच ट्रैक करेगी कि आपके हाथों क्या-क्या हुआ, हेल्थ ऐप में स्टोर रहेगा पूरा डेटा


गैजेट डेस्क. स्मार्टवॉचअब और ज्यादा स्मार्ट होने जा रही है। हाल ही में शोधकर्ताओं में बताया कि स्मार्टवॉच अब यूजर के हाथों की गतिविधियों को भी ट्रेस करेगी और यह पता लगाएगी किपहनने वाला क्या-क्या काम करता है। उन्होंने बताया कि इस तकनीक से स्वास्थ्य संबंधित ऐप को यूजर की दिनचर्या पर नजर रखने में आसानी होगी, जैसे कि वो कब ब्रश कर रहाहै और कब सिगरेट पी रहाहै।

  1. यूएस स्थित कार्नेगी मेलन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं नेस्टैंडर्ड स्मार्टवॉच की मदद से यहपता लगाया कि यूजर कब कीबोर्ड पर टायपिंग करता है, कब बर्तन धोता है, कब पालतू जानवरों के साथ वक्त बिताता है और कब कैंची के मदद से चीजों को काटता है। शोधकर्ताओं ने इसके लिए स्मार्टवॉच के ऑपरेटिंग सिस्टम में कुछ बदलाव किए। उन्होंने हाथों के मोशन का पता लगाने के लिए वॉच के एक्सीलेरोमीटर का इस्तेमाल किया, वहीं कुछ मामलों में बायो- एकॉस्टिक साउंड की मदद ली जो 25 तरह की हाथों की गतिविधियों को 95% सटीकता के साथ बताने में सक्षम है। ये 25 गतिविधियांका पता लगाना सिर्फ शुरुआत है आगे और भी चीजों कापता लगाना संभव हो सकता है।

  2. कार्नेगी मेलन यूनिवर्सिटी के सहायक प्रोफेसर का कहना है कि अगर हमारे डिवाइस शरीर और विभिन्न अंगों की गतिविधियों को जानते हैं तो कई तरह की ऐप्स को ज्यादा बेहतर और ज्यादा संवेदनशील बनाया जा सकता है।

  3. कार्नेगी मेलन यूनिवर्सिटी के पीएचडी के छात्र गियार्ड लापुट ने बताया कि जिस तरह कार ड्राइव करते समय स्मार्टफोन टेक्स्टमैसेज को ब्लॉक कर यूजर को डिस्टर्ब नहीं करता, ठीक उसी प्रकार भविष्य के डिवाइस हाथों की गतिविधियों का पता लगाकर स्मार्ट डिवाइस यूजर को बाधित नहीं करेंगे। उदाहरण के तौर पर जब यूजर सब्जियां काट रहा हो या बिजली के उपकरण चला रहा हो।

  4. स्मार्टवॉच कीसेंसिंग हेंड एक्टिविटी यानी हाथों की गतिविधियों की निगरानी जैसे दांतो को ब्रश करना, हाथ धोना या सिगरेट पीने जैसे जानकारियों को इकट्ठा कर स्वास्थ्य संबंधी ऐप तक पहुंचाती है। इसके अलावा हेंड सेसिंग तकनीक का उपयोग उन ऐप के द्वारा भी किया जाता है जो नया कौशल सीख रहे यूजर्स को प्रतिक्रिया प्रदान करती है। उदाहरण के तौर पर वो लोग जो कोई म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट सीख रहे हो।

  5. शोधकर्ताओं ने हाथों की गतिविधियों को जानने के लिए 50 लोगों को स्टडी में शामिल किया। जिन्हें एकहजार घंटों के लिए विशेष रूप से तैयार की गई स्मार्टवॉच पहनाई गई।

  6. विशेष रूप से डिजाइन की गई यह स्मार्टवॉचसमय समय पर हाथों की प्रतिक्रिया को रिकॉर्ड करता है। रिसर्ट में80 से अधिक हाथ की गतिविधियों को लेबल किया गया था, जो यूनिक डेटासेट प्रदान करतीहै।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Smartwatches get smarter can now identify what your hand is doing

We would like to update you with latest news.